other  News 

एक्शन में उद्धव सरकार, सीमा विवाद जल्द सुलझाने के लिए शिंदे-भुजबल बने समन्वयक

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद को लेकर एक उच्च स्तरीय बैठक की. इसमें निर्णय लिया गया कि इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट में फास्ट ट्रैक सुनवाई के प्रयास किए जाएंगे.

महाराष्ट्र-कर्नाटक में सीमा विवाद को लेकर उच्च स्तरीय बैठक (फोटो-ANI)महाराष्ट्र-कर्नाटक में सीमा विवाद को लेकर उच्च स्तरीय बैठक (फोटो-ANI)

 

  • सीमा विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में फास्ट ट्रैक सुनवाई के प्रयास
  • छगन भुजबल और एकनाथ शिंदे समन्वयक नियुक्त किए गए

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को महाराष्ट्र-कर्नाटक में सीमा विवाद को लेकर एक उच्च स्तरीय बैठक की. इसमें निर्णय लिया गया कि इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट में फास्ट ट्रैक सुनवाई के प्रयास किए जाएंगे.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कर्नाटक के साथ चल रहे सीमा विवाद मामले में अपनी सरकार के प्रयासों को रफ्तार देने के लिए मंत्री छगन भुजबल और एकनाथ शिंदे को समन्वयक नियुक्त किया.

महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच बेलगाम और अन्य सीमावर्ती इलाकों का मामला कई वर्षों से सुप्रीम कोर्ट के समक्ष लंबित है. मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया कि महाराष्ट्र सरकार जल्द ही अदालत में प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर रहे लोगों की एक बैठक बुलाएगी.

बयान में कहा गया कि ठाकरे खुद इस मामले पर वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे के साथ चर्चा करेंगे. लंबे समय से चले आ रहे सीमा विवाद पर एक बैठक की अध्यक्षता करने के बाद मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि भुजबल और शिंदे कानूनी लड़ाई में समन्वयक की भूमिक निभाएंगे.

ANI@ANI

Eknath Shinde and Chhagan Bhujbal have been appointed as Coordinating Ministers, for the issue of Maharashtra-Karnataka border dispute. https://twitter.com/ANI/status/1203327691241340928 …

View image on Twitter

ANI@ANI

Mumbai: Maharashtra Chief Minister Uddhav Thackeray today chaired a high level meeting over the border dispute between Maharashtra-Karnataka. It was decided in the meeting that attempts will be made to get fast track hearing in Supreme Court on this issue.

View image on Twitter

 

महाराष्ट्र का दावा है कि बेलगाम, करवार और निप्पानी समेत कुछ इलाके जो कर्नाटक का हिस्सा है, वहां रहने वाले अधिसंख्य लोग मराठी भाषी हैं. उद्धव ठाकरे ने बैठक में कहा कि विवाद के निस्तारण में राजनीतिक मतभेद आड़े नहीं आना चाहिए. उन्होंने कहा, “मैं यह सुनिश्चित करना चाहता हूं कि अदालत में महाराष्ट्र की स्थिति मजबूत है. हर किसी को इस विवाद को सुलझाने के लिए साथ आना चाहिए.”



Reported By:Surendra



Indian news TV