other  News 

Twitter पर क्यों आमने-सामने सवाल जवाव ! IAS अवनीश शरण और IPS डी. रूपा !

 

Twitter पर क्यों आमने-सामने आ गए IAS अवनीश शरण और IPS डी. रूपा? 

आईपीएस डी. रूपा और आईएएस अधिकारी अवनीश शरण (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. IPS डी. रूपा ने गीता का एक श्लोक ट्वीट किया था
  2. IAS अवनीश शरण ने इसपर आपत्ति जताई
  3. इसके बाद डी. रूपा ने उनपर पूर्वाग्रह से ग्रसित होने का आरोप लगाया

नई दिल्ली : 

वरिष्ठ IAS अधिकारी अवनीश शरण और चर्चित IPS डी.रूपा ट्वीटर पर आमने-सामने आ गए. दरअसल, आईपीएस डी. रूपा ने अपने ट्वीटर हैंडल पर गीता का एक श्लोक पोस्ट किया. इस पर अवनीश शरण ने आपत्ति जताई. इसके बाद डी.रूपा ने उन्हें नसीहत दे डाली. डी. रूपा ने ट्वीट किया, 'परित्राणाय साधूनां विनाशाय च दुष्कृताम्‌, धर्मसंस्थापनार्थाय सम्भवामि युगे-युगे.' उनके इस ट्वीट को री-ट्वीट करते हुए अवनीश शरण ने लिखा, 'आप जैसी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से यह आशा नहीं थी मैम...सॉरी.' मामला यहीं खत्म नहीं हुआ. अवनीश शरण के इस ट्वीट का जवाब देते हुए डी. रूपा ने उन पर संस्कृत के खिलाफ पूर्वाग्रह का रुख अपनाने का आरोप लगाया.

Awanish Sharan@AwanishSharan

 

 · 10h

It was not expected from a senior police officer like you Ma’am. Sorry! https://twitter.com/d_roopa_ips/status/1202849515331416064 …

D Roopa IPS@D_Roopa_IPS

परित्राणाय साधूनां विनाशाय च दुष्कृताम्‌ ।
धर्मसंस्थापनार्थाय सम्भवामि युगे युगे ॥
Thoughts at this moment.

D Roopa IPS@D_Roopa_IPS

It shows your bias against Sanskrit. Dharma in this means righteousness,not religion. Many police organisations have "dushta shikshak,shishta rakshak"as their motto/logo,meaning the same as what is said in this verse. And,I have not tagged/linked it to anything. Satyameva Jayate!

483

11:49 PM - Dec 7, 2019

Twitter Ads info and privacy

IPS डी. रूपा ने लिखा, ''यह संस्कृत के खिलाफ आपके पूर्वाग्रह को दर्शाता है. यहां धर्म का मतलब सही के साथ खड़ा होना है. कई जगह पुलिस विभाग का तो 'दुष्ट शिक्षक, शिष्ट रक्षक' सिद्धांत और लोगो है. इसका भी यही मतलब है, जो इस श्लोक में है. और मैंने तो इसे किसी संदर्भ के साथ जोड़ा ही नहीं है...सत्यमेव जयते.'' आपको बता दें कि डी. रूपा को लेडी सिंघम के नाम से भी जाना जाता है. वर्तमान में वे रेलवे में आईजीपी के तौर पर तैनात हैं. वहीं, 2009 बैच के आईएएस अधिकारी अवनीश शरण को उनकी सादगी के लिए जाना जाता है. वर्तमान में वे छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले में कलेक्टर के रूप में तैनात हैं.  



Reported By:Surendra



Indian news TV