other  News 

सशस्‍त्र बल झंडा दिवस? जानिए इसका इतिहास और महत्‍व

Armed Forces Flag Day: युद्ध के समय हुई जनहानि में सहयोग, सेना में कार्यरत कर्मियों और उनके परिवार के कल्याण और सहयोग हेतु और सेवानिवृत्त कर्मियों और उनके परिवार के कल्याण हेतु फंड जमा किया जाता है.

सशस्त्र बल झंडा दिवस या आर्म्ड फोर्सेज फ्लैग डे (Armed Forces Flag Day) हर साल 7 दिसंबर को मनाया जाता है. सशस्त्र बल झंडा (Armed Forces flag) दिवस या झंडा दिवस  (Flag Day) भारतीय सशस्त्र सेना के कर्मियों के कल्याण के उद्देश्य से मनाया जाता है. इस दिन भारत की जनता से सशस्त्र बल (Armed Forces) के कर्मियों के लिए धन संग्रह किया जाता है, इस धन का प्रयोग सैनिकों के परिवारों की भलाई के लिए खर्च किया जाता है. 

सशस्त्र बल झंडा दिवस से जुड़ी अहम बातें

1. सशस्त्र बल झंडा दिवस (Armed Forces Flag Day) को मनाने की शुरुआत 7 दिसंबर 1949 से हुई थी. 1949 से हर साल 7 दिसंबर को सशस्‍त्र बल झंडा दिवस मनाया जाता है. इसके बाद सरकार ने 1993 में संबंधित सभी फंड को एक सशस्त्र बल झंडा दिवस कोष में समाहित कर दिया था.केंद्रीय मंत्रिमंडल की रक्षा समिति ने युद्ध दिग्गजों और उनके परिजनों के कल्याण के लिए सात दिसंबर को सशस्‍त्र बल झंडा दिवस (Flag Day India) मनाने का फैसला लिया था.

2. सशस्त्र सेना झंडा दिवस पर हुए धन संग्रह के तीन मुख्य उद्देश्य है. पहला युद्ध के समय हुई जनहानि में सहयोग, दूसरा सेना में कार्यरत कर्मियों और उनके परिवार के कल्याण और सहयोग हेतु और तीसरा सेवानिवृत्त कर्मियों और उनके परिवार के कल्याण हेतु.

3. इस दिन इंडियन आर्मी (Indian Army), इंडियन एयर फोर्स (Indian Air Force) और इंडियन नेवी (Indian Navy) तरह-तरह के कार्यक्रम आयोजित करती है. कार्यक्रम से संग्रह किया गया धन ‘आर्म्ड फोर्सेज फ्लैग डे फंड' में डाल दिया जाता है. 

4. केंद्रीय सैनिक बोर्ड  जो कि रक्षा मंत्रालय के अधीन है की स्थानीय शाखाएं इस दिन धन राशि संग्रह के काम का प्रबंधन करते हैं. इसमें एक प्रबंधन समिति और स्वयंसेवी संगठन होते हैं. 

5.देशभर में सैन्य बलों के लिए गए धन संग्रह के बदले लाल, गहरे नीले और हल्के नीले रंग के झंडे दिए जाते हैं. ये तीनों रंग तीनों भारतीय सेना, नौसेना और वायुसेना का प्रतीक हैं.



Reported By:Surendra



Indian news TV