News 

गैंगरेप के आरोपियों के एनकाउंटर के बाद पुलिस पर क्या सवाल उठ रहे हैं?

हैदराबाद गैंगरेप मामले के चारों आरोपी एनकाउंटर में मारे गए हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक 5 दिसंबर की देर रात पुलिस चारों आरोपियों को उस जगह लेकर गई थी, जहां डॉक्टर की जली हुई लाश मिली थी. नेशनल हाईवे-44 के ब्रिज के नीचे. पुलिस ने बताया है कि क्राइम सीन को रिक्रिएट करने के मकसद से चारों को वहां ले जाया गया था. उस दैरान उन्होंने गिरफ्त से भागने की कोशिश की. पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की और इसी कोशिश में चारों को एनकाउंटर में मार गिराया.

पीड़िता के परिवार ने इस एनकाउंटर को सही बताया है. पुलिस को ‘थैंक्यू’ कहा है. और कहा है कि इससे उनकी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी. वहीं दूसरी तरफ इस एनकाउंटर को लेकर पुलिस पर कई सवाल भी खड़े होने लगे हैं. सोशल मीडिया पर बहुत लोगों ने अपना रिएक्शन दिया है. कोई इस कार्रवाई की तारीफ कर रहा है और कोई सवाल पूछ रहा है.

सुप्रीम कोर्ट की वकील करुणा नंदी ने ट्वीट कर कहा,

‘अब कोई कभी भी ये नहीं जान सकेगा कि मारे गए चारों लोग सच में दोषी थे या नहीं. पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए चार को गिरफ्तार किया था. हो सकता है कि असली रेपिस्ट अभी भी खुले घूम रहे हों. ताकि वो और औरतों का रेप कर सकें.’

Karuna Nundy@karunanundy

Now nobody will ever know if the four men killed by the police were innocent men, arrested fast to show action. And whether four of the most brutal rapists roam free, to rape and kill more women. https://twitter.com/CNNnews18/status/1202782974015463424 …

News18@CNNnews18

#NewsAlert – 8 days after brutal rape, all accused killed.

The rape-accused were killed in a police encounter while they were attempting to flee.

The encounter took place this morning at 3:30 am.@StacyPereira89 with details#RageAgainstRape #RapeAccusedKilled

Embedded video

3,481

8:34 AM - Dec 6, 2019

Twitter Ads info and privacy

1,949 people are talking about this

इसके अलावा एनकाउंटर के तरीके पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं. ये हैं कुछ सबसे बड़े सवाल:

– एनकाउंटर के वक्त आरोपियों के हाथों में हथकड़ी थी या नहीं? अगर नहीं, तो क्यों?
– क्या क्राइम सीन पर ले जाने के बाद उनकी हथकड़ी खोली गई थी?
– ऐसा क्या हुआ कि चारों भागने लगे?
– किस तरह पुलिस को चारों को गोली मारनी पड़ी?
– गोली कहां मारी गई?
– सुरक्षा के कड़े इंतजाम क्यों नहीं थे?
– क्या इस तरह के चारों को मार देना किसी तरह की हड़बड़ी नहीं दिखाता?
– आरोपियों के पैर में गोली मारकर उन्हें क्यों नहीं रोका गया?
– क्या सच में रेप करने वालों का ही एनकाउंटर हुआ है? कहीं जल्दबाजी में निर्दोष तो नहीं मारे गए?
– कहा जा रहा है कि क्रॉस फायरिंग हुई थी. यानी आरोपियों ने पहले पुलिस पर हमला किया होगा. कैसे? उनके पास बंदूक कैसे आ गई? इससे तो यही लगता है कि आरोपियों ने पहले पुलिस से बंदूक छुड़ाई होगी, फिर फायरिंग की होगी. अगर ऐसा हुआ होगा, तो सवाल उठता है कि आरोपी तभी पुलिस से बंदूक छुड़ा सकते हैं, जब उनके हाथ में हथकड़ी न हो. यानी क्राइम सीन पर ले जाने के बाद उनकी हथकड़ी खोली गई होगी.
– एक हफ्ते से चारों पुलिस की कैद में थे, जमकर पिटाई हुई होगी, अधमरी जैसी हालत हो गई होगी, ऐसे में चारों के अंदर कितना दम बचा होगा कि ढेर सारे पुलिसवालों के सामने से वो भागने की कोशिश करने लगे. और ऐसा भागे कि उन्हें रोकने के लिए पुलिस को उन्हें मारना पड़ गया?

तहसीन पूनावाला ने ट्वीट कर रेयान इंटरनेशनल स्कूल के प्रद्युम्न मर्डर केस का जिक्र किया. कहा,

‘बस कंडक्टर अशोक कुमार के ऊपर पहले प्रद्युम्न का मर्डर करने का आरोप लगा था. उसने तो ‘गुनाह कुबूल’ भी कर लिया था. लेकिन आगे की जांच में सामने आया कि कंडक्टर ने ऐसा नहीं किया था. सोचिए कि अगर पुलिसवाले उसे भी किसी एनकाउंटर में मार देते तो.’

Tehseen Poonawalla Official@tehseenp

Remember: bus conductor Ashok Kumar who was accused in the murder of Pradyuman Thakur in the Ryan International school. He even "confessed his crime". Investigations later showed, the conductor did not do it. Imagine if cops would have bumped him in an https://twitter.com/ANI/status/1202771440245735425 …

ANI@ANI

Telangana Police: All four people accused in the rape and murder of woman veterinarian in Telangana have been killed in an encounter with the police. More details awaited.

View image on Twitter

476

8:48 AM - Dec 6, 2019

Twitter Ads info and privacy

317 people are talking about this

हालांकि एनकाउंटर के बाद देश में कई जगह, खासकर तेलंगाना से लोगों के जश्न मनाते और पुलिस पर फूल बरसाते हुए विजुअल्स आए हैं. मगर कानून के जानकारों में ये सवाल उठाना भी जायज़ है कि पुलिस से न्याय और कानून को अपने हाथ में क्यों लेना पड़ा.



Posted By:Acharya Rekha Kalpdev






Follow us on Twitter : https://twitter.com/VijayGuruDelhi
Like our Facebook Page: https://www.facebook.com/indianntv/
follow us on Instagram: https://www.instagram.com/viajygurudelhi/
Subscribe our Youtube Channel:https://www.youtube.com/c/vijaygurudelhi
You can get all the information about us here in just 1 click -https://www.mylinq.in/9610012000/rn1PUb
Whatspp us: 9587080100 .
Indian news TV